किसी भी संस्था को शिकायत पत्र कैसे लिखें हिंदी व इंग्लिश में ?

Shikayat Patra Kaise Likhe Hindi me :- शिकायत पत्र एक ऐसा पत्र है जिसमें की किसी नागरिक का या अन्य किसी के साथ हुए अन्याय, भेदभाव या अनौपचारिक व्यवहार को व्यक्त करता है। कोई भी नागरिक शिकायत पत्र के माध्यम से संबंधित विभाग, कलेक्टर, पुलिस, स्कूल संस्था या मुख्यमंत्री को लिखकर समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

शिकायत पत्र को लिखते हो नागरिकों को कुछ आवश्यक बातों का ध्यान रखना जरूरी है। जैसे कि शिकायत पत्र में समस्या को स्पष्ट तरीके से लिखें जिससे कि उचित कार्यवाही किया जा सके। साथ ही शिकायत पत्र लिखते समय घटना के दिनांक को भी अंकित करें, जिससे की विलम्बता के वजह से सुनवाई में किसी प्रकार की दिक्कत ना हो।

अतः आज के इस लेख में हम साझा करेंगे कि शिकायत पत्र कैसे लिखें ? किसी भी विभाग को नागरिक अपने स्वेच्छा से शिकायत पत्र को हिंदी या इंग्लिश में लिखकर आवेदन कर सकते हैं। पोस्ट में हमने शिकायत पत्र के प्रारूप (Format) को साझा किया है जिसको आप समझकर किसी भी विभाग या संस्था को कंप्लेंट लेटर लिख सकते हैं।

टीसी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखेंपुलिस या थाना प्रभारी शिकायत का आवेदन पत्र 
स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखें 10 वीं के बाद स्थानांतरण पत्र हेतु आवेदन पत्र 

किसी भी विभाग शिकायत पत्र कैसे लिखें हिंदी में?

हिंदी में शिकायत पत्र को लिखने के लिए विभाग या संस्था के नाम को उल्लेख करने के साथ–साथ अपने नाम और व्यक्तिगत विवरण को भी लिखें। साथ ही होने वाले घटना को स्पष्ट तरीके से व्यक्त करें जिससे कि उचित कार्यवाही किया जा सके।

हिंदी में शिकायत पत्र कैसे लिखें उसका प्रारूप

सेवा में,
आदरणीय पुलिस अधीक्षक,
श्री रामपुर, अमरेली।

विषय – जमीन सम्बंधित विवाद शिकायत पत्र।

महोदय,

मेरा नाम विष्णु कुमार तिवारी है और मैं श्रीरामपुर गांव का एक निवासी हूं। पिछले कुछ दिनों से मेरे और मेरे गांव के विकास कुमार व्यक्ति जमीन संबंधित विवाद उत्पन्न हो गया है। यह विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है और विकास कुमार जी द्वारा निरंतर धमकियां मुझे और मेरे परिवार को मिल रहा है।

मान्यवर, मेरा आपसे अनुरोध है कि इस जमीन संबंधी विवाद के लिए जल्द से जल्द न्याय करें। मैंने इस संबंधित विवाद के बारे में पुलिस स्टेशन एफआईआरबी लिखवाया है किंतु पुलिस द्वारा अभी तक किसी प्रकार का एक्शन नहीं लिया गया है। जमीन संबंधित इस विवाद के कारण मेरे बच्चों के पढ़ाई में काफी दिक्कत आ रही है और मेरी धर्मपत्नी को भी बाज़ार जाते समय प्रताड़ित किया गया है। पुलिस द्वारा सहयोग न मिलने पर मैं आपको यह शिकायत पत्र लिख रहा हूं। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप इस हुए विवाद का शीघ्र निवारण करेंगे।

भवदीय,
विष्णु कुमार तिवारी,
दिनांक……

शिकायत पत्र कैसे लिखें – इंग्लिश में

To,
The Inspector of Police,
Vilaspur Police Station,

Subject: Compliant Letter for Threatening,

Sir my name is Vikramjit Singh and I live in Baitalpur. I am a government employee. For the last few days, many people in my locality play loudspeakers very loudly. I urged people to turn down the loudspeakers, but they still use the loudspeakers very loudly.

People are facing a lot of trouble due to this noise pollution in the locality. That’s why I am writing this complaint letter to you which is also signed by many people in the locality. I hope that you will solve this complaint letter given by me as soon as possible.

Thanking you.

Yours sincerely,
Signature,
Contact information:- 98452XXXXX

सारांश-

किसी भी संस्था को शिकायत पत्र लिखते समय नागरिक को शिकायत को स्पष्ट लिखना होता है जिससे कि कार्यवाही जल्द से जल्द किया जा सके। प्रधानध्यापक के खिलाफ़ शिकायत, बिजली चोरी हेतु शिकायत, जनसेवक के खिलाफ़ शिकायत, ग्रामप्रधान के खिलाफ़ शिकायत, दंत चिकित्सक को शिकायत पत्र, भ्रष्टाचार शिकायत पत्र प्रारूप, मानसिक उत्पीड़न शिकायत पत्र आसानी से लिख कर आवेदन कर सकते हैं।

शिकायत पत्र को लिखने के लिए हिंदी या english के किसी भी फॉर्मेट को चुन सकते हैं। अतः प्रभावी शिकायत पत्र कैसे लिखें, ऊपर बताये गए फॉर्मेट को देखकर आवेदन कर सकते हैं। मैं आशा करता हूँ कि ऊपर शिकायत पत्र का प्रारूप आपको समझ में आ गया है।

1 thought on “किसी भी संस्था को शिकायत पत्र कैसे लिखें हिंदी व इंग्लिश में ?”

  1. सेवा मे
    मुख्य मंत्री महोदय
    सविनय
    निवेदन है की मै सुनीता ग्राम व पोस्ट खजुरी थाना खजनी जिला गोरखपुर की रहने वाली हुॅ
    हमारे घर-परिवार की आर्थिक विकास नही हो पा रहा है एक छोटा सा घर है वहा हम शौचालय निर्माण कार्य करना चाह रहे है बरसात मे बहुत परसानी होती है
    अतः आप से अनुरोध है की हमे सरकारी इज्जत घर देने की कृपा करे
    जो की हम बनवाने मे असमर्थ है हमारे तीन बच्चे है हमारे पती बेरोजगार है जो एक सेठ के गल्र्ला के दुकान पर काम करते है जो गुजरा होता है

    मै प्राथी
    सुनीता पत्नी चंद्रहास

    Reply

Leave a Comment